ICSE Full Form In Hindi || ICSE Board क्या है?

आइये तो आज हम जानते है ICSE Full Form क्या है? व ICSE Board क्या है हमारे देश में राष्ट्रीय स्तर पर 2 एजुकेशन board बना रखे है जिसमे एक CBSE Board और व दूसरा ICSE Board है इसलिए आज हम ICSE Board के बारे में संक्षिप्त में जानेगे

आप शायद ही ICSE Board के बारे में जानते होंगे क्यूंकि ये CBSE के जितना popular नहीं है अगर आप ICSE के बारे में नहीं जानते है तो चिंता करने की कोई बात नहीं है आज आपको यहाँ पर ICSE से जुडी सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त होगी |

ICSE Full Form क्या है?

icse full form

ICSE के बारे में सबको जानना जरुरी हो जाता है क्यूंकि हर घर में बच्चे पढाई ज़रूर करते है तो सबको जानना यह जरुरी हो जाता है की ICSE की Full क्या होती है ICSE की FULL Form होती है “Indian Certificate Of Secondary Education”व ICSE का मतलब हिंदी में होता है “काउन्सिल ऑफ इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्ज़ामिनेशंस” |

I – Indian
C – Certificate Of
S – Secondary
E – Education

यह शिक्षा प्रणाली का विषय है इसलिए आपको जानना बहुत जरुरी हो जाता है क्यूंकि आप विद्यार्थी भी हो सकते है या अभिभावक भी जिसके लिए आपको पता होना चाहिए icse के बारे में सब कुछ |

ICSE Board क्या है?

आईसीएसई बोर्ड एक तरह का प्राइवेट बोर्ड है जो की नेशनल स्तर पर होता है सभी माता – पिता को अपने बच्चो की study के लिए बहुत चिंता होती है (ICSE FULL Form) की उनका बच्चा एक अच्छे बोर्ड से exam पास करे जिससे उसे कभी भविष्य में किसी मुसीबत का सामना ना करना पड़े इसके लिए अगर आप सोच रहे है की आपके बच्चे को ICSE बोर्ड में दाखिला कराने का तो इस पोस्ट को अच्छे से पड़े |

आईसीएसई बोर्ड पूर्ण रूप से अंग्रेजी माध्यम का होता है इसमें आपको हिंदी सब्जेक्ट या हिंदी भाषा से जुड़ा कुछ भी नहीं मिलेगा | आईसीएसई बोर्ड को भारतीय बोर्ड के द्वारा कोई मान्यता प्राप्त नहीं है ये एक प्राइवेट बोर्ड है जो खुदका एजुकेशन चलाता है (ICSE FULL Form) अगर सब्जेक्ट की बात करे आईसीएसई बोर्ड में तो यह बोर्ड बहुत हार्ड होता है इसमें सब्जेक्ट की संख्या बहुत अधिक होती है जिसकी वजह से बच्चो को पढाई करने में दिक्कत आ सकती है CBSE Board के अन्दर सिर्फ 6 सब्जेक्ट होते है और ICSE Board में 12 सब्जेक्ट होते है

इस लिहाज से यह बोर्ड बच्चो के लिए थोडा डिफिकल्ट हो सकता है आईसीएसई बोर्ड का एजुकेशन United Kingdom के एजुकेशन पर निर्भर होता है अगर आप अपने बच्चे को सेकेंडरी एजुकेशन बाद विदेश भेजना चाहते है आगे की पढाई के लिए तो यह बोर्ड बहुत मददगार होगा आपके बच्चो के लिए |

ICSE Board

ICSE Board की स्थापना सन 1956 में हुई थी यह पूर्णतया प्राइवेट बोर्ड है जिसका headquarter Delhi के अन्दर स्तिथ है | पढाई के लिहाज़ से देखा जाए तो इस बोर्ड में पढाई थोड़ी हार्ड होती है सीबीएसई बोर्ड के मुकाबले पर इस बोर्ड में बच्चे को सारा ज्ञान बहुत अच्छे तरीके से दिया जाता है (ICSE FULL Form) जिससे बच्चो का knowledge बहुत अच्छा हो जाता है पर इस बोर्ड में हर कोई अपने बच्चो को नहीं पढ़ा सकता है क्यूंकि यह दुसरे बोर्ड के मुकाबले थोडा महंगा होता है जिससे हर कोई परिवार अपने बच्चो को पढ़ाने में असमर्थ होता है |

Benefits Of ICSE Board

  • आईसीएसई बोर्ड पूर्णतया बच्चो के ज्ञान के विकास पर ध्यान देता है
  • इस बोर्ड का सिलेबस सभी विषयों को समान रूप से महत्व देती है जिससे बच्चे को पूरा ज्ञान मिले |
  • इसमें कुछ विशिष्ट विषयों का चयन करता है और उस पर ज्यादा ध्यान देते है |
  • यह अंग्रेजी भाषा पर बच्चो को पूरा ध्यान देते है और साथ ही अन्य विषयों के अध्ययन पर पूरा ध्यान देता है |
  • यह बोर्ड भारत देश में तो स्वीकार किया ही जाता है (ICSE FULL Form) साथ में दुनिया के सभी स्कूलों और कॉलेजों में भी स्वीकार किया जाता है जिससे बच्चो को विदेशो में पढने में दिक्कत नहीं होती है
  • ICSE का पाठ्यक्रम अच्छी तरह से बनाया गया है जिससे बच्चो को कोई दिक्कत न हो और इस पाठ्यक्रम का उद्देश्य छात्रों को विश्लेषणात्मक कौशल और व्यावहारिक ज्ञान प्रदान करना है।

Leave a Comment