Internet क्या है? व फायदे-नुकसान की हिंदी में पूरी जानकारी

Internet क्या है? के बारे में वेसे तो सब लोग जानते ही है क्यूंकि ये आज के जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है इसके बिना किसी भी व्यक्ति का कोई भी कार्य नहीं निकलता है internet के बिना मनुष्य अपने आप को अधुरा मानता है

Internet एक तरह का नेटवर्क है जिससे हर नेटवर्क एक दुसरे से जुड़े होते है और इसी तरह कार्य करते है यही नेटवर्क हम तक इन्टरनेट के द्वारा सारी information पहुचाते है और हम कोई भी device का इस्तेमाल कर कुछ भी सर्च करते है और हमे बहुत ही आसानी से वो information मिल जाती है इन सबके लिए हमे इन्टरनेट की आवश्यकता होती है इसलिए ही हमारा जीवन इन्टरनेट के बिना अधुरा है

आपको ये शायद ही पता होगा इन्टरनेट क्या है और ये किस तरह काम करता है internet का मालिक कौन है ये सब जानना हमारे लिए बहुत जरुरी है क्यूंकि हम रोजाना इन्टरनेट का इस्तेमाल करते है और न ही इसके बिना हमारा दिन निकलता है इसलिए हमे internet से जुडी सारी knowledge होनी चाहिए .

Internet क्या है?

internet kya hai

इन्टरनेट सुचना संप्रेक्षण का एक वैश्विक computer network है यह users को सुचना आदान -प्रदान करने का मंच प्रदान करता है इन्टरनेट में संचार के लिए विभिन्न प्रकार के प्रोटोकॉल का प्रयोग किया जाता है, जिससे डाटा ट्रान्सफर में कण्ट्रोल बनाये रखने में मदद मिलती है | इन computer में सरकारी, विश्विद्यालय, कम्पनीज एवं लोगो के व्यक्तिगत computer शामिल है | ज्यादातर इन्टरनेट सेवा क्लाइंट/सर्वर मॉडल पर कार्य करती है जब कोई computer फाइल रिसीव कर रहा होता है तो क्लाइंट कहलाता है तथा जब वह फाइल सेंड करा रहा होता है तो वह सर्वर बन जाता है | इन्टरनेट पर एक्सेस प्राप्त करने के लिए उस क्षेत्र में इन्टनेट service प्रोवाइडर के साथ अकाउंट खोलना होता है |

Internet का इतिहास

इन्टरनेट की शुरुआत United State Of America की सेना ने की थी | युद्ध की स्थिति में संचार व्यवस्था को सुरक्षित बनाने के लिए इन्टरनेट का निर्माण किया गया था | इसी क्रम में ARPANet (Advanced Research Projects Agency) नामक एक नेटवर्क को विकसित किया गया जो की धीरे धीरे एक संचार माध्यम में परिवर्तित हो गया | इसे कॉन्ट्रैक्ट्स, मिलिट्री के लोग एवं विश्विद्यालय के शोधकर्ता यूज करने लगे एवं उसके विकास में अपना योगदान देने लगे |

नेटवर्क को इस्तेमाल करने के लिए कुछ मानकीकृत प्रोटोकॉलो के समूह को विकसित किया गया जिससे द्वारा लोग एक दुसरे से comunicate कर सके एवं डाटा share कर सके | वर्ष 1980 में National Science Foundation ने कुछ हाई स्पीड computers को जोड़कर एक नेटवर्क (NSFNet) तैयार किया जिसने बाद में इन्टरनेट की नीव रखी | 1980 तक इसमें काफी नेटवर्क जुड़े एवं सहयोग करने लगे | वर्ष 1991 में National Research And Education Network (NREN) की स्थापना की गई | NREN का लक्ष्य शोध एवं शिक्षा से सम्भंधित सूचनाओ के संप्रेक्षण के लिए हाई स्पीड नेटवर्क को विकसित करना था, साथ ही साथ इन्टनेट के लिए वाणिज्यिक उपयोग की संभावनाओ की तलाश करना था |

Internet का उपयोग

1 कम्युनिकेशन (संचार) –

इन्टरनेट का प्रयोग हम अपने से दूर रह रहे लोगो से संचार करने के लिए काफी आसानी से कर सकते है | इन्टरनेट के आने के पहले ये काम काफी मुश्किल हुआ करता था लेकिन इन्टरनेट ने हमारी लाइफ को काफी आसान बना दिया है | इसके जरिये लोग इ-मेल, टैक्स एवं वोइस चैट, तथा विडियो कांफ्रेसिंग के जरिये सन्देश संप्रेक्षण के कार्य को कर पा रहे है इन्टरनेट द्वारा प्रदान की गई तेज रफ़्तार संचार व्यवस्था हमारे लिए अमूल्य उपहार है वर्तमान में इंस्टेंट मेसेजिंग एवं social media इन्टरनेट के द्वारा कम्युनिकेशन के कुछ उदाहरणों में से एक है |

2 रिसर्च (शोध)

शोध एक ऐसा कार्य जिसको करने के लिए बड़ी मात्रा में शोध विषय से संबंधित साहित्य के अवलोकन की आवश्यकता होती है | शोध विषय से सम्बंधित साहित्य एवं सन्दर्भ को एकत्रित करना एक कठिन कार्य हुआ करता था, पर जब से इन्टरनेट का विकास हुआ है एक click मात्र से विषय से संबंधित पुरे विश्व के हजारो शोध पत्र एवं पुस्तके उपलब्ध हो जाती है | वर्तमान में शोध विषय के लिए लाभप्रद सेकड़ो जानकारिया आपको इन्टरनेट पर मिल जाती है साथ ही आप social media के जरिये आपके विषय से संबधित विश्व के विभिन्न विशेषज्ञों से जुड़ कर शोध समस्या से संबधित परामर्श भी प्राप्त कर सकते है

3 एजुकेशन (शिक्षा)

वर्तमान परिद्रश्य में शिक्षा के क्षेत्र में नवाचारो के प्रसार में इन्टरनेट की बड़ी भूमिका नज़र आ रही है | Online Learning Platform विकसित हो रहे है, जिसके जरिये लोग register हो कर घर बैठे शिक्षा प्राप्त कर रहे है | साथ ही विकिपीडिया जैसी social sites के जरिये open एजुकेशन रिसोर्सेज विकसित हो रहे है आज विभिन्न शिक्षण संसथान youtube के जरिये video lecture अपलोड करके ऑनलाइन इंटरैक्टिव लर्निंग को प्रोत्साहित कर रहे है साथ ही विभिन्न विषयों से सम्बंधित सेल्फ लर्निंग मटेरियल की PDF फाइल्स भी उपलब्ध कराई जा रही है

4 Financial Transaction

वितीय लेन-देन से आशय मुद्रा के हस्तांतरण से है | इन्टरनेट ने ऑनलाइन मुद्रा हस्तांतरण प्रणाली को विकसित की है जिसके द्वारा आप अपने बैंक खाते से पुरे विश्व में मुद्रा हस्तांतरण कर सकते है इसके लिए आपको अपने खाते को बैंक की ऑनलाइन service से जोड़ना होगा | इसके उपरान्त आप बैंक की वेबसाइट पर लॉग इन करके मुद्रा हस्तांतरण के कार्य को कर सकते है | इसके अलावा इन्टरनेट ने प्लास्टिक मनी की अवधारणा को भी विकसित किया है, जिसे डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड जैसे नामो से संबोधित किया जाता है | इसके द्वारा भी आप बैंक के एटीएम के द्वारा मुद्रा प्राप्त कर सकते है, साथ ही ऑनलाइन transaction भी कर सकते है |

5 Real Time Update

इन्टरनेट आपको विश्व जगत की विभिन्न ताज़ा जानकारियों से अवगत करता है इन्टरनेट 24 घंटे update समाचार लोगो तक पहुँचता है आप इससे जुड़ कर business,खेल, वित, राजनीती, मनोरंजन एवं बहुत से सामाजिक मुधो से संबंधी सुचनाए प्राप्त कर सकते है |

World Wide Web (WWW) क्या है?

world wide web (www) एक open सोर्स इनफार्मेशन स्पेस है जहा डाक्यूमेंट्स एवं बाकी वेब रिसोर्सेज को उनके यूआरएल (URL) द्वारा पहचाना जाता है, ये डाक्यूमेंट्स एवं वेब रिसोर्सेज हाइपरटेक्स्ट लिंक द्वारा आपस में जुड़े होते है और इन्टरनेट के माध्यम एक्सेस किये जा सकते है world wide web को use करके अरबो लोग इन्टरनेट पर इंटरैक्ट करते है एक विशिष्ट पेज को world wide web पर वेब पेज के नाम से जाना जाता है | इन पेजेज को एक specialised software इस्तेमाल करके, जो यूजर की मशीन पर रन होता है एक्सेस किया जाता है
जिसको web browser के नाम से जाना जाता है | वेब पेज टेक्स्ट, इमेजेज, वीडियोस, मल्टीमीडिया कंपोनेंट्स, web nevigation, features जैसे hyperlinks आदि से मिल कर बने होते है
इन्टरनेट और world wide web एक दुसरे के स्थान पर इस्तेमाल होते है लेकिन वे समान नहीं है | इन्टरनेट हार्डवेयर भाग के रूप मे कहा जा सकता है यह या तो तांबे के तार, फाइबर optics केबल या वायरलेस कनेक्शन के माध्यम से जुड़े computer नेटवर्क का एक संग्रह है , जबकि, world wide web software भाग के रूप में कहा जा सकता है

Leave a Comment